Viral News: यह फूल अद्भुत है, यह खेतों में खोज-खोज कर गाजर घास को कर देता है खत्म

Viral News: गाजर घास मनुष्य और पशुओं को हर दृष्टि से रोग और अन्य नुकसान पहुंचाती है। गाजर घास से निजात पाने के लिए किसान अपने खेतों के आसपास गेंदे के पौधे लगाकर इस खरपतवार को फैलने से रोक सकते हैं।

गाजर घास बहुत तेजी से फैलती है। इसलिए खेतों और घरों के आसपास इसके जंगल उग आते हैं। खेती की बात करें तो यह हानिकारक खरपतवार की श्रेणी में आती है, जिसे नष्ट करना जरूरी है। ऐसे में किसान खेत के आसपास गेंदे के पौधे लगाकर इस हानिकारक घास के फैलने और बढ़ने को रोक सकते हैं।

गेंदा लगाकर जहां एक ओर आप घर की खूबसूरती बढ़ा सकते हैं, वहीं इसकी खेती भी मुनाफे वाली है। पूर्व जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. आशुतोष पंत ने बताया कि गेंदे के फूलों में कुछ ऐसे रसायन होते हैं, जो गाजर घास को नष्ट कर देते हैं। इसलिए किसानों को गाजर घास से निजात पाने के लिए गेंदे के फूल उगाने चाहिए।

गाजर घास मनुष्यों में चर्म रोग, एग्जिमा, एलर्जी, अस्थमा जैसी बीमारियों का कारण बनती है। गाजर घास के फूलों से निकलने वाला पराग अस्थमा रोगियों के लिए बहुत हानिकारक होता है। इसलिए इसे घर के आसपास या खेतों में फैलने से रोकना जरूरी है।

यह घास पशुओं के लिए भी हानिकारक है। दुधारू पशुओं के चारे में इसकी मिलावट से दूध में कड़वाहट आ जाती है। आपको बता दें कि गाजर घास एक शाकीय पौधा है, जो 90 सेमी से एक मीटर ऊंचा होता है। इसके पत्ते गाजर या गुलदाउदी के पत्तों जैसे होते हैं। इसमें छोटे-छोटे सफेद फूल लगते हैं। फूल और बीज हर मौसम में दिखाई देते हैं।